Friday, 16 March 2012

क्‍योंकि हर काम का एक वक्त होता है

गौतम बुद्व ने कहा था अतीत में मत जियो, न भविष्य के सपने बुनो, खुद को वर्तमान में जीने योग्य बनाओ। उनके कहने का तात्पर्य समय की महत्ता जानने का था। हमारा वर्तमान तभी सही रहेगा जब हम वर्तमान का संपूर्ण और बेहतर उपयोग कर सकेंगे। उसके लिए हमें कई बार 24 घंटों में ही 30 घ्‍ांटे के बराबर काम करना होता है। कैसे! यही है टाइम मैनेजमेंट, जो प्रोफेशनल्स के लिए ही नहीं हाउसवाइफ के लिए भी जरूरी है-

कामकाजी हैं तो...
अकसर महिलाएं बहाना करती हैं कि उनके पास समय ही नहीं बचता, खुद की केयर कैसे करें? बहाने कुछ भी हों, अगर इच्छाशक्ति हो, तो हर असंभव काम संभव हो जाता है। अगर आप सिस्टेमेटिक ढंग से अपने कार्यों की प्लानिंग करेंगी, तो खुद के लिए भी समय निकाल लेंगी।

निजी जिंदगी में
प्रतिदिन अपने कामों की आवश्‍यकता के अनुसार सूची बना लें और उस पर अमल करें। जो काम किसी वजह से छूट गए हों, उन्हें अगले दिन की सूची में सबसे ऊपर रखें। सुबह-सुबह भागदौड़ न हो, तो किचन की साफ-सफाई रात में ही सोने से पहले करें। लंच बॉक्स वगैरह रात में ही धो लें। बच्चों के ड्रेस, बैग आदि एक जगह रखें। अगर बच्चे थोड़े बड़े हैं, तो उनको इस काम के लिए प्रेरित कर सकती हैं। सुबह का मैन्यू रात में ही डिसाइड कर लें, ताकि व्यर्थ में सुबह का समय बर्बाद न हो। सप्ताह में एक दिन अपने वीकली सामानों की सूची बनाएं और जरूरत का सामान पहले से लाकर रखें।

ऑफिस में
घर के साथ-साथ ऑफिस के प्रति भी आपकी जिम्मेदारी है। यहां आपका प्रदर्शन और कार्यशैली देखी जाती है, इसलिए यहां भी हर काम को सिस्टेमेटिक ढंग से करें। पूरे दिन आपने क्या किया, इसकी लिस्ट हर दिन बनाकर रखें, ताकि जरूरत के वक्त आप अपने सीनियर्स को बता सकें। अपने काम के साथ सभी जरूरी कागजों और फाइलों को समेट कर रखें। आपको काम करने में आसानी होगी। जरूरी कागजों की विषय संबंधी फाइलें बनाएं, जिससे जरूरत पड़ने पर तुरंत कागज मिल सकें। अपनी क्षमता और योग्यता के अनुसार काम करें। आलस्य को अलविदा कहें।

घरेलू हैं तो!
पूरे दिन तो घर में ही रहना है, यह सोचकर अपने काम को पूरे दिन लटकाए रहना समझदारी नहीं है। क्या आप चाहती हैं कि आप अपने परिवार को ज्यादा समय दें, कुछ अपने लिए वक्त निकालें और अपने किसी शौक को पूरा करें। आपका जवाब हां है, तो बेशक आपको टाइम मैनेजमेंट की जरूरत है। आवश्‍यकता व टाइम के अनुसार अपने कामों की प्‍लानिंग करें। अपने हर काम को समय पर निबटाने की आदत डालें। किचन के काम को कैसे आसान बना सकती हैं, इस पर गौर करें।
-इधर-उधर पड़ी चीजों को उसी समय सही जगह रखें या रखवाएं। घर के सारे काम स्वयं नहीं करें, थोड़ी जिम्मेदारी अन्य सदस्यों पर भी डालें। इससे आपका काम आसान होगा। काम को कभी कल पर न टालें। हो सकता है, कल कोई और काम आ जाए। इसलिए जो काम आज करना है, उसे हर हाल में पूरा करें।
-खुद पर ध्यान दें। मामला फिटनेस का हो या सौंदर्य का। इसमें कोई कोताही न बरतें, इससे आपका आत्‍मविश्वास बढ़ता है।
-आपकी हर जरूरत का इलाज कंप्यूटर के पास है। इससे जो चाहें वह जानकारी मिनटों में लें। बिल जमा करना हो या शॉपिंग ऑनलाइन सुविधा का इस्तेमाल कर सकती हैं।

2 comments:

  1. The blog or and best that is extremely useful to keep I can share the ideas of the future as this is really what I was looking for, I am very comfortable and pleased to come here. Thank you very much.
    dissertation Writing Service

    ReplyDelete